Petition given by PG group members to DCP Zone 8 protesting against victimizing of activists of Bandra area by BKC Police Station officers.

प्रेस नोटः 20.11.2020

 ******* 

दिनांक : 19.11.2020

सेवा में,

Addl. Commissioner of Police (W.R.)

Carter Raod, Near Ashirwad Bunglow,

Bandra (W), Mumbai.

विषयः  लगातार झूठे आरोपों में फँसाये जाने की शिकायतें दिये जाने के बावजूद पिछले दो वर्षों से लगातार झूठी शिकायतों पर बिना सबूतों के FIR पर FIR दर्ज किये जाने व उपलब्ध तकनीकि सबूतों का इस्तेमाल ना किये जाने के मामले मेंविशेष जाँच टीम (SIT) के द्वारा समाजसेवा करनेवाले परिवार पर लगाये गये सभी मामलों की जाँच करके सच्चाई सामने लाते हुये दोषियों के खिलाफ कार्यवाही किये जाने हेतु|

महोदय,

हम पैटिशन ग्रुप के सदस्य सामाजिक स्तर पर पिछले कई वर्षों से समाज के लिये काम कर रहे हैं| मनिहार परिवार के सदस्य भी हमारी इस मुहिम के सदस्य हैं जैसा कि, देश की प्रगति की सबसे बड़ी रूकावट भ्रष्टाचार है जिसके खिलाफ बोलने वाले अधिकांशतः एक्टिविस्टों को फर्जी मामलों में फँसा कर उनकी आवाज़ों को लगातार दबाया जा रहा है|

माननीय उच्चतम न्यायालय ने भी कहा है कि, “एक्टिविस्ट भ्रष्टाचार व अराजकता के ऊपर सेफ्टी वॉल्व का काम करते हैं अगर ये ना हों तो अराजकता का तांडव देश को लील जायेगा”|

मनिहार परिवार के लगभग सभी सदस्यों पर लगातार कई FIR दर्ज की गई हैं जिनके विश्लेषणात्मक शिकायती-पत्र व  तकनीकि सबूत ही साबित कर देते हैं कि, सभी मामले फर्जी व झूठी शिकायतों पर दर्ज किये गये हैं मगर भ्रष्ट पुलिस सच्चाई सामने लाने की अपेक्षा गुंडों व भ्रष्टाचारियों का साथ दे रही है|

वर्तमान में Whistleblower बदरूद्दीन के ऊपर 354, 509 के साथ-साथ पॉक्सो एक्ट की धारा 8 व 12 के तहत फर्जी FIR No. 304/20 दिनांक 12.11.2020 को भी दर्ज कर दी गई है, यह FIR उस महिला की तरफ से हुई है जिसके पति ने झूठी शिकायत पर FIR No. 176/20 बदरूद्दीन व अन्य पर दर्ज की थी जिसकी सच्चाई साबित करने के लिये कथित घटनास्थल की सी.सी.टी.वी. फुटेज भी उपलब्ध थी मगर फिर भी सुप्रीम कोर्ट के आदेश की अवमानना करते हुये झूठी शिकायत पर ही जानने-समझने के बावजूद उसी झूठी शिकायत पर दर्ज  FIR No. 176/20 को आधार मानकर FIR No. 180/20 दिनांक 23.05.2020 को भी दर्ज कर ली गई थी|

श्रीमान जी, निम्न शिकायत-पत्रों को देखिये जिससे साबित होता है कि, मनिहार परिवार लगातार कहता चला आ रहा है कि, उनके द्वारा सामाजिक हित में किये गये कार्यों की वजह से उनपर झूठे मामले दर्ज किये जा सकते हैं|

अतः श्रीमान जी से निवेदन है कि ‘विशेष जाँच टीम (SIT)’ बनाते हुये जाँच करवाई जाये जिससे संदिग्ध FIR को निरस्त किया जा सके साथ ही संबंधित दोषी अधिकारियों के खिलाफ कठोर अनुशासनात्मक कार्रवाई की रिपोर्ट बनाकर जिम्मेदार अधिकारियों को दी जाये जिससे दोषियों के खिलाफ सख्त कार्यवाही हो सके और अधिनस्त अधिकारियों को इस प्रकार निर्देशित करें जिससे वे भू-माफिया के गुर्गे बनकर काम करने की हिम्मत ना कर सकें|

संलग्न दस्तावेज़ों की सूचीः

क्र.विवरणपेज संख्या
1.दि. 19.11.2020 को झूठी शिकायत (दि. 12.11.2020 को दर्ज FIR No. 304/20) के मामले में दी गई शिकायत: a.दि. १२.११.२०२० को झूठी शिकायत पर पॉक्सो एक्ट के तहत Whistleblower बदरूद्दीन और उनकी बहन शारमिन शेख के विरूद्ध बी.के.सी. पुलिस थाने में दर्ज FIR No. ३०४/२०२० b.‘गुंडों द्वारा प्रताड़ित किए जाने’ व ‘मनिहार परिवार पर रेप का आरोप लगाने का दबाव डालने’ नहीं तो ‘झूठे मामले दर्ज किये जायेंगे’ के मामले में दि. १६.१०.२०२० को अतिरिक्त पुलिस आयुक्त (WR) को शपथ-पत्र के साथ दिया गया पत्र c.शारमिन द्वारा ३०२ के आरोपी सालिम कुरैशी व गुंडों के खिलाफ बी.के.सी. पुलिस थाने में ‘पूर्व में दिये शपथ-पत्र’ के साथ दी गई शिकायत के मामले में बयान के लिये थाने में हाजिर होने के लिये दि. १०.११.२०२० को दिया गया पत्र d.गुंडों द्वारा प्रताड़ित किए जाने व मनिहार परिवार पर रेप का आरोप लगाने का दबाव डालने के मामले में दि. १३.११.२०२० के दिन बी.के.सी. पुलिस थाने में दिया गया बयान e.दि. १४.११.२०२० के दिन शारमिन शेख की माँ द्वारा बी.के.सी. पुलिस थाने के वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक को दिया गया पत्र f.दि. १६.११.२०२० के दिन शारमिन शेख बी.के.सी. पुलिस थाने के पुलिस उपनिरीक्षक को दिया गया बयान g.दि. १७.१०.२०२० के दिन गुंडे शारिक द्वारा बीच बाजार गंदी गालियाँ के साथ दी गई धमकी के मामले में शारमिन शेख द्वारा बी.के.सी. पुलिस थाने में दर्ज की गई FIR No. ३१३/२०२० h.दि. ११.११.२०२० के दिन FIR No. ३०४/२०२० की शिकायतकर्ता की बेटी द्वारा दी गई गंदी गालियाँ व ‘मेरा चाचा तुझे नंगी करके घुमायेगा’ के मामले में शारमिन शेख द्वारा दर्ज की गई NC No. ७६७/२०२० i.बी.के.सी. पुलिस थाने में शारमिन के साथ की गई अंधेरगर्दी के मामले में साक्षात्कार j.दि. १९.११.२०२० के दिन Addl.C.P. को ज्ञापन देने के लिये गई पैटिशन ग्रुप की टीम द्वारा लिया गया वीडियो 23
2.मनिहार परिवार पर दर्ज किये गये मामलों की सच्चाई को उजागर करता विश्लेषण जिसे एक बच्चा भी समझ कर कह सकता है कि मनिहार पर परिवार पर भ्रष्ट अधिकारियों ने गुंडों, भू-माफियाओं व बदमाशों द्वारा मिल रहे हफ्ते में आ रही रूकावटों की वजह से फर्जी मामले दर्ज किये हैं|1
3.FIR No. 255/19 से संबंधित सभी शिकायती पत्रों और FIR का विश्लेषण जिससे साबित होता है कि मनिहार परिवार पर दर्ज सभी मामले फर्जी हैं91
4.FIR No. 69/20 से संबंधित सभी शिकायती पत्रों और FIR का विश्लेषण जिससे साबित होता है कि मनिहार परिवार पर दर्ज सभी मामले फर्जी हैं75
5.FIR No. 180/20 से संबंधित सभी शिकायती पत्रों और FIR का विश्लेषण जिससे साबित होता है कि मनिहार परिवार पर दर्ज सभी मामले फर्जी हैं212

कुल पेजों के संख्या

(कवरिंग पेज व अन्य संलग्न दस्तावेज़)

=  3+ 23 + 1 + 91 + 75 + 212 = 405 Pages


One Reply to “Petition given by PG group members to DCP Zone 8 protesting against victimizing of activists of Bandra area by BKC Police Station officers.”

Leave a Reply

Your email address will not be published.